आम तौर पर महिलाओं को एक बेहतर निवेशक माना जाता है.

क्‍या होता है IPO और कैसे किया जाता है इसमें निवेश, स्‍टॉक मार्केट की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं तो जान लें ये बेसिक बातें

शेयर मार्केट को काफी रिस्‍की माना जाता है. ये जितनी तेजी से मुनाफा करवाता है, उतनी ही तेजी से आपको पैसों का नुकसान भी करवा सकता है. इसमें पैसा लगाने से पहले इसको लेकर स्‍टडी करना और बेसिक बातों को जानना जरूरी है.

क्‍या होता है IPO और कैसे किया जाता है इसमें निवेश (Zee Biz)

बीते कुछ समय से शेयर मार्केट शेयर मार्केट क्या हैं को लेकर क्रेज काफी बढ़ गया है. तमाम लोग इसमें पैसा इन्‍वेस्‍ट करते हैं और बेहतर मुनाफा कमाते हैं. लेकिन शेयर मार्केट को काफी रिस्‍की माना जाता है. ये जितनी तेजी से मुनाफा करवाता है, उतनी ही तेजी से आपको पैसों का नुकसान भी करवा सकता है. इसलिए ये जरूरी है कि स्‍टॉक मार्केट की दुनिया में कदम रखने से पहले आप इसको लेकर स्‍टडी कर लें और कुछ बेसिक बातों को अच्‍छी तरह से जान लें.

स्‍टॉक मार्केट की दुनिया में आपने IPO का जिक्र जरूर सुना होगा. तमाम कंपनियां अपने IPO को समय-समय पर लॉन्‍च करती हैं और लोग उसमें अपना पैसा लगाते हैं. अगर आप इस क्षेत्र में नए हैं और शेयर मार्केट में पैसा लगाना चाहते हैं, तो यहां जानिए क्‍या होता है आईपीओ और इसमें निवेश करने का तरीका क्‍या है?

क्‍या होता है IPO

आईपीओ का मतलब है Initial Public Offering. जब कोई कंपनी पहली बार पब्लिक को अपने शेयर ऑफर करती है तो इसे IPO कहा जाता है. ऐसे समझें कि देश में तमाम प्राइवेट कंपनियां विभिन्‍न क्षेत्रों में काम करती हैं. जब इन कंपनियों को फंड की जरूरत होती है तो ये खुद को स्‍टॉक मार्केट में लिस्‍ट करवाती हैं और शेयर मार्केट क्या हैं इसका सबसे बेहतर तरीका है आईपीओ. आईपीओ को जारी करने के बाद कंपनी शेयर मार्केट में लिस्‍ट हो जाती है. इसके बाद निवेशक उसके शेयर को खरीद और बेच सकते हैं.

आईपीओ खरीदने वालों की कंपनी में होती है हिस्‍सेदारी

कंपनी के आईपीओ खरीदने वालों की कंपनी में हिस्‍सेदारी हो जाती है और कंपनी के पास फंड इकट्ठा हो जाता है. साधारण शब्‍दों में समझें तो आईपीओ को लाने के बाद उस कंपनी को चलाने वाला सिर्फ उसका मालिक या परिवार नहीं होता, बल्कि वो सभी निवेशक भी इसमें शामिल होते हैं जिनका पैसा उसके शेयर में लगा होता है. निवेशकों से आए फंड को कंपनी अपनी कंपनी की तरक्‍की और तमाम अन्‍य कामों में खर्च कर सकती है.


आईपीओ में कैसे करें निवेश

आईपीओ में निवेश करने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट का होना बहुत जरूरी है. डीमैट अकाउंट आप किसी भी ब्रोकिंग फर्म से खोल सकते हैं. आईपीओ जारी करने वाली कंपनी अपने आईपीओ को इनवेस्टर्स के लिए 3-10 दिनों के लिए ओपन करती है. उतने दिनों के अंदर ही निवेशक कंपनी की साइट पर जाकर या ब्रोकरेज फर्म की मदद से आईपीओ में इन्‍वेस्‍ट कर सकते हैं.

WATCH: Upcoming IPOs | इन 4 Companies के Shares में पैसा लगाने का मौका, जल्द आने वाले हैं IPO!

What is Share and Share Market: शेयर क्या होता है? क्यों खरीदते हैं लोग शेयर?

What is Share शेयर मार्केट क्या हैं and Share Market: शेयर क्या होता है? क्यों खरीदते हैं लोग शेयर?

aajtak.in

aajtak.in

  • नई दिल्ली ,
  • 13 नवंबर 2021,
  • अपडेटेड 1:37 PM IST

Basics of Stock Market and Shares: व्यापार में और निवेश जगत में शेयर का नाम सबसे ज्यादा लिया जाता है , शेयर के बारे में लोग बाते करते है और बताते है. लेकिन अगर आप नहीं जानते शेयर क्या है, तो कोई बात नहीं. आज इस वीडियो से जानें कि आखिर क्या होता है शेयर और क्यों लोग शेयर खरीदते हैं.

Women’s Day 2022: महिला निवेशकों के लिए शेयर मार्केट में निवेश के ये हैं 5 गोल्डन रूल, सही इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटजी से बन सकते हैं अमीर

Women’s Day 2022: शेयर बाजार से मुनाफा कमाने के लिए बहुत तेज बुद्धि की ही जरूरत नहीं है, बल्कि एक अनुशासित और व्यावहारिक तरीके से भी निवेश करके अच्छा खासा रिटर्न जनरेट किया जा सकता है.

Women’s Day 2022: महिला निवेशकों के लिए शेयर मार्केट में निवेश के ये हैं 5 गोल्डन रूल, सही इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटजी से बन सकते हैं अमीर

आम तौर पर महिलाओं को एक बेहतर निवेशक माना जाता है.

Women’s Day 2022: कहा जाता है कि शेयर बाजारों में निवेश करने वालों में से 5 फीसदी से भी कम निवेशक ही लगातार मुनाफा कमा पाते हैं. शेयर बाजार से मुनाफा कमाने के लिए बहुत तेज बुद्धि की ही जरूरत नहीं है, बल्कि एक अनुशासित और व्यावहारिक तरीके से भी निवेश करके अच्छा खासा रिटर्न जनरेट किया जा सकता है. यही वजह है आम तौर पर महिलाओं को एक बेहतर निवेशक माना जाता है. ऐसा भी कहा जाता है कि महिलाएं, पुरुषों की तुलना में बचत करने में अच्छी होती हैं और प्राइस व वैल्यू के बीच बेहतर अंतर कर सकती हैं. हालांकि, शेयर बाजार में निवेश करने के कुछ गोल्डन रूल हैं, जो महिलाओं को पैसा कमाने में मदद कर सकते हैं. आइए जानते हैं कि य रूल कौन से हैं.

एंट्री रूल्स

जिस तरह हम कोई सामान खरीदते हैं तो उसकी कीमत और क्वालिटी को परखते हैं, उसी तरह स्टॉक चुनते समय भी यही तर्क काम करता है. यह नियम महिलाओं को सही स्टॉक चुनने में मदद कर सकता है.

Post office Whole Life Assurance Plan: पोस्ट ऑफिस के इस प्लान में रोज बचाएं 50 रुपये, मैच्‍योरिटी पर मिलेगा 34 लाख

क्वालिटी स्टॉक्स खरीदें

क्वालिटी वाले स्टॉक खरीदने का मतलब उन कंपनियों के स्टॉक खरीदना है, जिनके पास एक स्ट्रांग मैनेजमेंट है और जिन्होंने अलग-अलग बिजनेस सायकल का सामना किया है.

ऐसी कंपनियों में निवेश करें, जिन्हें आप अपने बच्चों को समझा सकें:

ऐसा माना जाता है कि ऐसी कंपनियों में निवेश करना चाहिए, जिन्हें हम आसानी से समझ सकें और किसी और को भी समझा सकें. ऐसी कंपनियों में निवेश का मतलब यह है कि जब बिजनेस में कुछ गड़बढ़ हो जाता है, तो ऐसे में यह समझना आसान होता है कि यह ठीक होगा या नहीं, और होगा भी तो कब तक होगा. इस आधार शेयर मार्केट क्या हैं पर यह फैसला लेना भी आसान हो जाता है कि कंपनी के शेयरों में गिरावट पर और शेयर खरीदने चाहिए या नहीं.

डायवर्सिफिकेशन है जरूरी

निवेश करते समय डायवर्सिफिकेशन का ध्यान रखना जरूरी है. अलग-अलग सेक्टर में एक से ज्यादा स्टॉक में निवेश किया जाना चाहिए. डायवर्सिफिकेशन से किसी एक सेक्टर में गिरावट पर भी ज्यादा नुकसान से बचा जा सकता है.

अपने निवेश की लगातार निगरानी जरूरी है. किसी भी स्टॉक शेयर मार्केट क्या हैं में कमजोरी के संकेत होने पर फौरन जरूरी कदम उठाया जाना चाहिए. साथ ही कंपनियों की स्थिति को भी लगातार मॉनिटर करना चाहिए.

(By Vikas Singhania, CEO, TradeSmart)

(शेयर बाजार में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन हैं. कृपया कोई भी शेयर मार्केट क्या हैं निवेश निर्णय लेने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श लें.)

Investment Tips: क्या आप भी हैं स्टॉक मार्केट में नए? तो सही शेयरों का चुनाव करने के लिए इन मापदंडों को अपनाएं, नहीं होगा जोखिम

कैसे करें सही शेयर का चुनाव (प्रतिकात्मक तस्वीर)

कोरोना महामारी के चलते हमारे जीवन में कई तरह के बदलाव आए हैं। ऐसे में निवेश बाजार में भी एक बदलाव देखने को मिला है। छोटी बचत योजनाओं व बैंक जमा में ब्याज के घटने से अब छोटे निवेशकों ने शेयर बाजार की ओर रुख किया है। खास बात ये है कि एक ओर जहां छोटी बचत योजनाओं में निवेशकों की संखया घटी है, वहीं दूसरी ओर डीमैट खातों की संख्या बढ़कर दस करोड़ के पार पहुंच गई है। बेहतर मुनाफे के चलते भले ही निवेशकों ने इसे अपनाया है, लेकिन इसमें जोखिम भी उतना ही ज्यादा है। कई बार शेयर बाजार और शेयरों की सही समझ नहीं होने के चलते निवेशकों को बड़ा नुकसान भी उठाना पड़ा है। अगर शेयर मार्केट क्या हैं आप भी शेयर बाजार में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं। लेकिन इसके जोखिम को लेकर निवेश करने में हिचकिचा रहे हैं, तो आप इन मापदंडों के आधार पर अपने शेयरों का चुनाव कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि सही शेयर का चुनाव करने के कुछ मापदंड, जिनसे आपके निवेश को जोखिम भी कम होगा और बेहतर रिटर्न दिलाने में भी मदद होगी।

कैसे करें सही शेयर का चुनाव (प्रतिकात्मक तस्वीर)

मजबूत फंडामेंटल कंपनी को कैसे पहचानें

किसी भी कंपनी में निवेश से पहले कंपनी का कारोबार और वित्तीय स्थिति का आकलन करना बेहद जरूरी है। आप उस कंपनी के बीते दो साल के वित्तीय परिणाम, कारोबार का क्षेत्र और बाजार में हिस्सेदारी को देखें। इसके बाद कंपनी के बीते चार तिमाही मुनाफे के स्टेटस को देखें। आप ये सारी जानकारी ऑनलाइन आसानी से पता कर सकते हैं। साथ ही कंपनी के शेयर पर ब्रोकरेज हाउस और विशेषज्ञों की राय को जरूर पढ़ें। ऐसा करके आप एक सही कंपनी के शेयर का चुनाव कर सकते हैं। इसके अलावा कभी भी किसी पेनी स्टॉक में निवेश न करें।

रेटिंग: 4.65
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 609